, ,

15 Mukhi Indonesian Rudraksha

Availability:

1 in stock


Approx Size : 17.28 mm

Approx Weight : 1.62 gm

22,000.00

1 in stock

Buy Now

पंद्रह मुखी रूद्राक्ष

पंद्रह मुखी रूद्राक्ष पशुपतिनाथ का स्वरूप माना जाता है  यह रुद्राक्ष स्वास्थ्य, धन, शक्ति, ऊर्जा, समृद्धि, आत्मा के उन्नयन और आध्यात्मिक शक्ति में वृद्धि करता है तथा सच्चा सुख और मन की शांति प्रदान करता है और उचित मार्ग प्रशस्त करने तथा सही रास्ते पर लेकर हमें आगे बढ़ता है । पंद्रह मुखी रूद्राक्ष भगवान पशुपतिनाथ का प्रतीक तथा राहु द्वारा शासित है । ऐसा माना जाता है कि इसे पहनने से धन का अभाव नही रहता है और मोक्ष को प्राप्त करने में तथा उच्च उर्जा शक्तियों की वृद्धि में ये सहायक होता है । पंद्रह मुखी रुद्राक्ष को पन्द्रह तिथियों से संबंधित है । इस रुद्राक्ष को धारण करने से अपने सभी उद्यमों और उर्जा शक्ति द्वारा अपने सभी कार्यों में व्यक्ति सफलता पाता है ।

इस रुद्राक्ष के पहनने वाला तीव्र बुद्धि को पाता है और वह अपने ज्ञान द्वारा सभी को प्रभावित करने में सक्षम होता है । मान्यता है कि जब भगवान विश्वकर्मा सभी देवताओं के लिए हथियार बना रहे थे तब उन्होंने भगवान शिव से अपने इस कार्य में सफलता पाने का आशीर्वाद माँगा  तथा भगवान शिव प्रार्थना से प्रसन्न हो  उन्हें  आशीर्वाद के रूप में पंद्रह मुखी रुद्राक्ष प्रदान किया । यह त्वचा के रोग को दूर करने में सहायक होता है तथा पौरूष शक्ति को बढा़ने में लाभदायक है । प्राचीन वैदिक ग्रंथों के अनुसार पंद्रह मुखी रुद्राक्ष गर्भपात का भय समाप्त करता है प्रसव पीड़ा को कम करता है तथा असाध्य रोगों को दूर करने में बहुत लाभकारी सिद्ध होता है । विचारों और ध्यान केंद्रित करने तथा एकाग्रता शक्ति और स्मृति बढ़ को उत्तम बनाता है और यह अंतर्ज्ञान की शक्ति को भी  बढ़ाता है ।

पंद्रह मुखी रुद्राक्ष के फायदे

पशुपतिनाथ का स्वरुप यह रुद्राक्ष आत्मा की उनत्ति, अच्छे स्वस्थ्य और आध्यात्मिक शक्ति में वृद्धि के लिए अनुकूल है । त्वचा सम्बन्धी रोग इस रुद्राक्ष को धारण करने से नष्ट हो जाते हैं । यह रुद्राक्ष राहु  द्वारा शाषित है और राहु के नकारात्मक ग्रह दोष को दूर करने में सहायक होता है । यह रुद्राक्ष मन की शांति प्रदान करता है और अशांत मन वालों के लिए लाभदायक सिद्ध होता है ।

Fifteen Mukhi Rudraksha

Fifteen Mukhi Rudraksha is considered to be the form of Pashupatinath. This Rudraksha brings health, wealth, strength, energy, prosperity, upliftment of the soul, and an increase in spiritual power. Provides true happiness and peace of mind. Fifteen Mukhi Rudraksha is the symbol of Lord Pashupatinath and is ruled by Rahu. There is no shortage of money by wearing fifteen Mukhi Rudraksha and it can help in attaining salvation and in the growth of higher energy powers.

By wearing this Rudraksha one can get success in all his ventures and the wearer of this Rudraksha can get sharp intellect and he is able to impress everyone with his knowledge. It is believed that when Lord Vishwakarma was making weapons for all the deities, he sought blessings from Lord Shiva to get success in this work and Lord Shiva was pleased with the prayer and blessed him with fifteen Mukhi Rudraksha.

According to ancient Vedic texts, Fifteen Mukhi Rudraksha eliminates the fear of miscarriage, reduces labor pain, and proves to be very beneficial in curing incurable diseases. Improves thoughts and focus and increases concentration power and memory and it also enhances the power of intuition.

Benefits of Fifteen Mukhi Rudraksha

This Rudraksha is the form of Pashupatinath that is favorable for the growth of the soul, good health, and increase in spiritual power.  Skin-related diseases are destroyed by wearing this Rudraksha. This Rudraksha is ruled by Rahu and helps in removing the negative planetary defects of Rahu. This Rudraksha can provide peace of mind and proves beneficial for those with restless minds.

Based on 0 reviews

0.0 overall
0
0
0
0
0

Be the first to review “15 Mukhi Indonesian Rudraksha”

There are no reviews yet.